स्मार्टफोन का उचित उपयोग – अन्तर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

आलेख
question_answer0
संसार में कोई भी वस्तु खराब नहीं होती। खराब होती है तो उसका उपयोग करने वाले कैसे लोग हैं। कहां, कब, क्या उपयोग करना चाहिए, इसका ज्ञान आवश्यक है। वास्तव में देखा जाए तो प्राकृतिक साधन, वस्तु का उपयोग करने में कोई हानि नहीं, पर जो मानव द्वारा बनाई गई…

दीपों से जगमगाया शांतिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर

समाचार
question_answer0
मां पद्मवाती की मूर्ति का भव्य श्रंगार https://antarmukhipujya.com/wp-content/uploads/2021/10/WhatsApp-Video-2021-10-15-at-2.25.37-PM.mp4 https://antarmukhipujya.com/wp-content/uploads/2021/10/WhatsApp-Video-2021-10-15-at-2.25.38-PM.mp4 https://antarmukhipujya.com/wp-content/uploads/2021/10/WhatsApp-Video-2021-10-15-at-2.25.32-PM.mp4   भीलूड़ा। अन्तर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज के सान्निध्य में शांतिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में नवरात्रि के अवसर पर नौ दिन तक जिनेन्द्र भगवान की भक्ति और मां पद्मवाती की आराधना की गई। महोत्सव के अंतिम दिन बड़े ही उत्साह…

होम्बुज में हर्षोल्लास से मनाया जाता है नवरात्र पर्व : – अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

आलेख
question_answer0
धार्मिक संस्कृति से ओत-प्रोत भारत संसार का ऐसा देश है जहां सभी धर्मों के पर्व और त्यौंहार एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। सभी धर्मों के त्यौंहार और पर्व यहां बड़े उल्लास, उमंग और श्रद्धा से मनाए जाते हैं। नवरात्रि जैसा त्यौंहार तो सभी को आन्तरिक शक्ति से परिपूर्ण कर देता…

शिष्य की साधना देख गुरु स्वयं माैजूद रहे आहार चर्या में, 54 दिन बाद मुनि ने किया आहार में अन्न का ग्रहण

समाचार
question_answer0
भीलूड़ा/ डूंगरपुर । भीलूड़ा में चातुर्मासरत अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज ने 54 दिन बाद मंगलवार काे अन्न का आहार किया। इसी उपलक्ष्य में भीलूड़ा में साधना महाेत्सव मनाया गया। आचार्य अनुभव सागर महाराज के प्रथम शिष्य मुनि पूज्य सागर महाराज की तरफ से 48 दिन की माैन साधना के…

54 दिन बाद 28 सितंबर काे आहार में करेंगे अन्न ग्रहण, मनाया जाएगा साधना महाेत्सव

समाचार
question_answer0
भीलूड़ा/ डूंगरपुर। भीलूड़ा में चातुर्मासरत मुनि पूज्य सागर महाराज 54 दिन बाद 28 सितंबर काे आहार में अन्न ग्रहण करेंगे। इसी उपलक्ष्य में 28 सितंबर काे भीलूड़ा में साधना महाेत्सव मनाया जाएगा। जाे 25 नवंबर तक चलेगा। इस अवधि में पुस्तक प्रकाशन व पाैधराेपण व धार्मिक कार्यक्रम हाेंगे। जानकारी के…
Menu