कोरोना महामारी ने सभी को समझाया भगवान महावीर का उपदेश – अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantसमाचार

उदयपुर। महावीर जयंती जन्म महोत्सव दिगम्बर जैन मंदिर,पहाड़ा में अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज के सानिध्य में मनाया गया। मन्दिर के प्रवचन हॉल को  प्रतीकात्मक स्वरूप राज सिद्धार्थ का महल बनाकर उसे दीपक, रंगोली, तोरण से सजाया गया। घंटी बजाकर जन्मोत्सव की खुशी जाहिर की गई और पालने में भगवान महावीर को झुलाया गया। इसके बाद महावीर भगवान की शांतिधारा की गई। शांतिधारा पवन जैन ने की और पालना दीपिका जैन ने झुलाया। इस अवसर पर अन्तर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज ने कहा कि यह मेरे जीवन का पहला मौका है कि केवल चार व्यक्तियों के बीच एक कमरे में महावीर जयंती मनाए गई है।
कोरोना महामारी ने घर-घर महावीर की जय-जयकार, पूजन,अभिषेक, ध्वजारोहण, घंटी और नारों की गूंज करवा दी। जिस घर और देश में यह सब हुआ, वहां कोरोना महामारी का प्रकोप अब नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी ने भगवान महावीर का उपदेश समझा दिया, शुद्ध खाओ, पियो और दूरी बनाए रखो। इस संसार में कोई एक-दूसरे का नहीं है, अकेले आए थे और अकेले जाओगे। कार्यक्रम के बाद शाम को आरती भी की गई।

Related Posts

Menu