जैन मुनि अन्तर्मुखी पूज्यसागर महाराज का आह्वान, पुनीत कार्य में भागीदार बनें

label_importantसमाचार

मदनगंज- किशनगढ़ । कोरोना के कोहराम में अभी हर कोई भयभीत है। कई लोगों की नौकरियां चली गई। आर्थिक मंदी ने कइयों को डुबो दिया है। सबसे ज्यादा खराब हालात प्रतिदिन कमाकर खाने वालों की हुई है। ऐसे में किशनवासियों से एक पुनीत आह्वान कर रहा हूं। आपके स्वयं या परिजनों के जन्मदिन पर एक हजार रुपए की राशि ऐसे जरुरतमंदों के नाम पर संबंधित उपखंड या जिला कलक्टर कार्यालय में दें। यह सही अर्थों में आपका जन्मदिन मनाना होगा, यही इस दिवस की सार्थकता होगी। यह पुनीत कार्य कर आप मोबाइल नम्बर 9460155006 पर सूचित करें ताकि आपकी प्रेरणा के प्रकाश की ज्योत अन्य लोगों के दिलों में भी मदद की ज्योत जलाएं। आपका यह पुनीत कार्य अन्य के लिए भी प्रेरणा बन सकेगा। मुझे पूरा विश्वास है कि अध्यात्म के साथ ही समाजसेवा के गुणों से परिपूर्ण किशनगढ़ के निवासी इसमें पूरा सहयोग करेंगे। बताता चलूं कि यहां से मेरा जुड़ाव १998 से रहा है, जब चक्रेश के नाम से यहां सब मुझे जानते थे। उस वर्ष 1998 में आचार्य श्री वर्धमान सागर महाराण के चरणों में अपने आप को मैंने धर्म के समतपित किया था। मुनि बनकर  2019 चातुर्मास में भी किशनगढ़ ही किया था। एेसे में एक आह्वान दिल से कर सकता हूं कि कोरोना के कहर के पीडिज़नों की सहायतार्थ यहां के लोग कदम बढाएंगे।

Related Posts

Menu