कर्म सिद्धांत

सीता के वन जाने के बाद राम की व्याकुलता – अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantकर्म सिद्धांत
कर्म विचित्र हैं। इनकी व्यवस्था भी विचित्र है। कब, क्या अंदर में भाव बदल जाएं, पता ही नहीं चलता? अंदर…

कर्मों में सुधार से उद्धार सम्भव – अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantकर्म सिद्धांत
कर्म बड़े विचित होते हैं। देखो, जिस त्रिलोकमण्डल हाथी को राम और लक्ष्मण अयोध्या में वश में कर सके, वह  राजा  भरत…

कर्म गति ने तो सीता पर भी लगा दिए लांछन – अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantकर्म सिद्धांत
पद्मपुराण के पर्व तिरासी में राम, सीता और लक्ष्मण के अयोध्या में प्रवेश के बात सीता पर लांछन का वर्णन…

गलती को स्वीकार करने वाला महान बन जाता है – अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantकर्म सिद्धांत
कोरोना महामारी के चलते कोरोना में उपयोग आने वाली दवाईओ की कालाबाजारी हो रही है। यहां तक कि कोरोना में…

कर्म सिद्धांत की पालना जरूरी – अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

label_importantकर्म सिद्धांत
रावण के दाह संस्कार के बाद विभीषण में अपने कुल के बड़े बुजुर्ग सुमाली, माल्यवान तथा रत्नश्रवा आदि परिवार के…
corona kah raha hai swayam ko bachaao

कोरोना कह रहा है स्वयं को बचाओ – अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

label_importantकर्म सिद्धांत
कोरोना महामारी से समझ लें कर्म सिद्धांत को तो आप वर्तमान में अपने आप को और आने वाले समय में…
Menu