आलेख

इंद्रियों पर पूर्ण नियंत्रण ही ब्रह्मचर्य धर्म। – मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantआलेख
पर्युषण पर्व विशेष – दसवां दिन – उत्तम ब्रह्मचर्य धर्म दशलक्षण धर्म का अंतिम परंतु सबसे प्रभावी लक्षण है उत्तम…

आत्मा का ध्यान करना ही आकिंचन्य धर्म। – मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantआलेख
पर्युषण पर्व विशेष – नवां दिन – उत्तम आकिंचन्य धर्म दशलक्षण धर्म का नौवां कदम है आकिंचन्य धर्म। आकिंचन्य धर्म…

प्रसन्नता के रथ पर सवारी के लिए अपनाएं उत्तम आर्जव धर्म। – मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantआलेख
पर्युषण पर्व विशेष – तीसरा दिन – उत्तम मार्दव धर्म जीवन में हमेशा प्रसन्नतारूपी रथ पर सवार हों, खुशियों का…

अहंकार को धरातल पर रखकर जीना ही मार्दव धर्म है। – मुनि पूज्य सागर महाराज

label_importantआलेख
पर्युषण पर्व विशेष -दूसरा दिन- उत्तम मार्दव धर्म उल्लसित करने वाले पर्व का आज दूसरा दिन है। इसे मार्दव धर्म…

पर्युषण पर्व पर अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर द्वारा लिखित आलेख का संग्रह

label_importantआलेख
पर्यूषण पर्व: संस्कारों के शंखनाद का आगाज करने वाला पर्व, इस पर्व के दस अंग प्रकृति तक पहुंचने का सर्वश्रेष्ठ…
Menu