सौभाग्यशाली है किशनगढ़ की जनता और मैं भी

label_importantकृतज्ञता

मुनि श्री पूज्य सागर जी के किशनगढ़ आने से यहां की धरा सदा के लिए पवित्र हो गई है। हम सभी लोग अपने आपको धन्य और सौभाग्यशाली मानते हैं कि ऐसे विरले संत ने इस जगह को चातुर्मास के लिए चुना। संतों की कृपा रहती है तो जनता का कल्याण होता है। मुझ पर भी उनका विशेष आशीर्वाद रहा है। मैंने निर्दलीय होकर चुनाव लड़ा तो मेरे मन में भी संशय था कि मैं चुनाव जीतूंगा या नहीं लेकिन मुनि श्री ने मुझे विजयी होने का आशीर्वाद दिया था और शायद इसी वजह से आज मैं विधायक बना हूं।

सुरेश टांक, िवधायक

किशनगढ़

Related Posts

Menu