शुभी-वागीश ने लिया आशीर्वाद

folder_openसमाचार

भीलूड़ा । मुनीश-मोनिका जैन दूदू वालों की बेटी शुभी का विवाह इम्फाल निवासी विजय-बबीता कासलीवाल के बेटे वागीश के साथ फरवरी में हुआ। दोनों वैवाहिक जीवन की सुख,शांति और समृद्धि के लिए अन्तर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज के दर्शन करने भीलूड़ा (राजस्थान) आए ।
मुनि श्री ने उन दोनों को सुखी जीवन जीने का आशीर्वाद देते हए कहा कि जीवन मे स्वाध्याय का बहुत महत्व है । स्वाध्याय करने से संसारी दुखों से लड़ने की शक्ति मिलती है। पुण्य-पाप की क्रियाओं की जानकारी मिलती है। स्वाध्याय से हमें अपनी संस्कृति और संस्कारों की जानकारी भी मिलती है। आज हम देख रहे है कि हमारी युवा पीढ़ी पाश्चायत संस्कृति की और दौड़ रही है। इसके कारण ही युवा पीढी को उनकी संस्कृति और संस्कारों के बारे में नहीं पता है । आज स्वाध्याय की कमी के कारण हम अपनी संस्कृति और संस्कारों पर सवाल खड़े कर रहे हैं । मुनि श्री ने दोनों को कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से भी क्रमश: आप धर्म की जानकारी प्राप्त कर सकते हो वह भी स्वाध्याय ही होगा । जब आप को आदत हो जाएगी तो आप शास्त्र के माध्यम से स्वाध्याय करना प्रारम्भ कर देंगे । मुनि श्री ने कहा कि आप स्वाध्याय का संकल्प ले जिससे आप का जीवन सुखी और सम्पन्न रहे क्योकि स्वाध्याय से पुण्य का संचय होता और पुण्य ही संसारी सुख और मोक्ष का कारण है । दोनों ने कहा कि वह अभी सोशल मीडिया के माध्यम से स्वाध्याय करने का पुरुषार्थ करेंगे और नियम के साथ स्वाध्याय को जीवनचर्या बना लेंगे ।

Related Posts

Menu