सोशल मीडिया से अहिंसा की भावना बढ़ाएं – अंतर्मुखी मुनि पूज्य सागर महाराज

15 जून को श्रुतपंचमी पर्व है। इसी दिन आचार्य पुष्पदंत-भूतबली स्वामी ने षट्खंडागम लिखकर पूर्ण किया था। आज वही लिखित शास्त्र हम सबको अहिंसा के मार्ग पर चलने का मार्गदर्शन कर रहा है। वर्तमान में काल के प्रभाव से समय बदला है। लोग साथ में रहें, इसलिए सोशल मीडिया के माध्यम से कई जानकारियां दी जा रही हैं। धार्मिक,सामाजिक और व्यापार आदि की  बातें सोशल मीडिया के द्वारा जन-जन तक पहुंचाई जा रही हैं। ऐसे में प्रश्न उठता है कि क्या आज आप श्रुतपंचमी पर्व पर जैनधर्म के प्रचार के लिए यह संकल्प नहीं कर सकते हैं कि प्रतिदिन धर्म का एक पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर करे ताकि अहिंसा धर्म जन- जन तक पहुंचे। नई पीढ़ी के पास शास्त्र पढ़ने का समय नहीं, और न ही शास्त्रों में लिखे गूढ़ रहस्यों को समझने का अधिक ज्ञान है। तो क्यों नहीं, आप सोशल मीडिया के माध्यम से धर्म की छोटी-छोटी जानकारी शेयर करें ताकि नई पीढ़ी धर्म से जुड़े। धर्म का महत्व बताकर आप उन्हें धर्म से जोड़ें। इस तरह आप धर्मप्रभावन का कार्य कर सकते हैं। यह संकल्प कोई व्यक्ति विशेष,संस्था आदि कर सकता है। तो आप संकल्प करने को तैयार हैं?

अनंत सागर
दिल की बात
14 जून 2021, सोमवार
भीलूड़ा

Related Posts

Menu