अंतर्मुखी के दिल की बात

दिल की बात- ‘जो विवादों को बढ़ावा दे रहे हैं वो सच्चे श्रावक नहीं’- अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

  वर्तमान स्थिति को देखकर लगता है कि आने वाले समय में जैन धर्म इतने भागों में बंट जाएगा कि…

दिल की बात:- अपने घर में ‘संस्कृति मंदिर’ बनाने का संकल्प लें अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

आज अधिकांश परिवारों में युवा पीढी धर्म से दूर है। यह एक गंभीर विषय है। हम इसे जितना नजर अंदाज…

दिल की बात:-‘संसारी कार्यों को महत्व देना आंतरिक भावों को दूषित करता है’- अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

आज अधिकांश श्रावकों के स्वभाव में साधुओं और धार्मिक कार्यों के प्रति कुछ अविनय का भाव का गया है। भाव…

अंतर्मुखी के दिल की बात:-समाज के विवादों को खत्म करो-अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

समाज की सभी राष्ट्रीय संस्थाओं के पदाधिकारियोंआशीर्वादआप इस पत्र को अवश्य पढ़ें। यह एक पीड़ा है। यह मेरी नही बल्कि…
Menu