प्रेरणा

प्रेरणा :- ‘गुरू के प्रति समर्पण ने नरेन्द्र को बनाया विवेकानंद’- अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

मेरे प्यारे अमेरिकी भाइयों और बहनों…..इस उद्बोधन के साथ ही अमेरिका के शिकागो में आयेाजित विश्व धर्म संसद का पूरा…

प्रेरणा :- ‘अद्भुत व्यक्तित्व- सेठ टोडरमल जैन’- अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

सेठ टोडरमल जैन….पंजाब के सिखों मे एक पूजनीय नाम है। टोडरमल सरहिंद के व्यापारी थे। वहां के नवाब ने मुगलों…

प्रेरणा:-‘एक गांव ऐसा जहां 99 प्रतिशत लोग मानते हैं जैन सिद्धांत’- अंतर्मुखी मुनि श्री पूज्य सागर जी महाराज

  जैन धर्म का अंहिसा का सिद्धांत पूरी दुनिया में अपनी एक पहचान रखता है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने इस…
Menu